स्वभाषा में रचा गया साहित्य समाज, सभ्यता, संस्कृति को बचाए रखता है : स्वामी ओमा दी अक्क

दुनिया की बड़ी बड़ी सभ्यताएं सिर्फ इसलिए मिट गईं कि उनकी भाषा मिट गई। मिश्र के पिरामिड तो खड़े रह

Read more

मोह में जकड़ी मनुष्यता दुःखों की यात्रा पर है : स्वामी ओमा दी अक्क

◆ अक्क परिवार का जन्माष्टमी समारोह वाराणसी। मोह बंधन है, प्रेम मुक्त करता है। प्रेम परमात्मा से मिलन कराता है।

Read more

जब गिर पड़ी हिन्दू मुस्लिम की दीवार
स्वामी ओमा का जन्मोत्सव

●अम्बरीष रायनफ़रतों के इस दौर में एक घर मुहब्बत का है. जहां सियासत की कोई बात नहीं, कोई एजेंडा नहीं.

Read more

Mau Tv