चर्चा में

22 दिन से लापता बच्चे के मिलने की सूचना देने पंहुची विनीता पाण्डेय को, सभी ने कहा धन्यवाद मैडम

(आदर्श कुमार गुप्ता)

मऊ। 25 दिसम्बर सोमवार जब सारी दुनिया सुबह उठकर ठंडी में चाय की चुस्कियां ले रहा था तथा क्रिसमस सेलिब्रेट करने बाले अपनी तैयारी में लगे थे, उस समय बाल कल्याण समिति की सदस्या श्रीमती विनीता पांडेय 22 दिन से लापता बच्चे को मां-बाप से मिलवाने के लिए पगडंडी और गांव-गांव उसका घर तलाश रही थी।
हुआ यूं कि 24 दिसंबर रात 8:00 बजे विनीता पाण्डेय के मोबाइल पर इलाहाबाद बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष का फोन आया कि आपके यहां का एक 16 वर्ष का बालक 22 दिन पहले लावारिस हालत में रेलवे स्टेशन पर जीआरपी वालों को मिला जीआरपी वालों ने बाल कल्याण समिति के आदेशानुसार बालक को बालगृह में सुरक्षित रखवा दिया गया है। लेकिन वह बालक लगता रो रहा है तथा घर जाने के लिए परेशान है। इतना सुनते ही मैडम ने कहा कि आप फौरन मुझे उस बच्चे से बात करवाइए इलाहाबाद बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष ने बच्चे से बात करवाया तथा पूछने पर बताया कि मेरा नाम धीरज चौहान पिता का नाम विनोद चौहान पेशा मछली मारना एवं बेचना है घर ढेकुलियाघाट सड़क से पश्चिम एक किलोमीटर अंदर है। विनीता पाण्डेय ने बच्चे को सांत्वना दिया की आप रोओ नहीं आपको तुरंत मां-बाप से मिलवाया जाएगा।
उसके बाद उन्होंने इलाहाबाद के अध्यक्ष को आश्वासन दिया और मन में जुनून संजो चल दी उस बालक का घर ढूढने।
कहा जाता है कि जिसके अंदर ममता जाग गया अब उसके लिए क्या सोना और क्या जागना। श्रीमती पाण्डेय किसी तरह से रात बिताई और सुबह होते ही उस बच्चे का घर तलाशने निकल पड़ी। काफी खोजबीन के बाद भी जब मंजिल नहीं मिला तो वे निराश नहीं हुयी और अपनी तलाश जारी रखी।
आखिर इरादे नेक हो तो मुकाम कौन रोक सकता, आखिरकार उस बच्चे का घर मिल ही गया, विनीता जैसे ही शुभ समाचार लेकर उसके दहजीज पर कदम रखी 22 दिन से बेटे के लिए पत्थराई आंखों में खुशी के आंसू बह निकले। घर पर मां, बाप, भाई, बहन सहित पड़ोसियों के खुशी का ठिकाना नहीं रहा। सबकी आंखों में विनीता उस समय किसी देवतूल्य नजर आने लगी। तब उन्होंने बच्चे के बारे में पूरी जानकरी परिजनों को दिया कि उनका बच्चा इलाहाबाद में सुरक्षित है। मां बाप से कहा कि वह अपना ID प्रूफ व डॉक्यूमेंट लेकर इलाहाबाद चले जाएं वहां से सारे कागजात दिखाकर अपने बच्चे को वापस लाएं। गांव के लोग व परिजनों ने विनीता मैडम को दिल से दुआएं दिया तथा इलाहाबाद के लोगों को भी धन्यवाद बोला।
ऐसे नेक कार्य करने के लिए विनीता पाण्डेय जी को बहुत-बहुत धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home2/apnamaui/public_html/wp-includes/functions.php on line 5373

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home2/apnamaui/public_html/wp-includes/functions.php on line 5373