दोहरीघाट रेलवे का संघर्ष समिति घोसी ने किया सर्वे, काम न शुरू होने पर व्यक्त किया रोष

दोहरीघाट/मऊ। शनिवार की शाम घोसी संघर्ष समिति घोसी के अध्यक्ष अरविंद कुमार पांडेय ने अपने साथियों संग दोहरीघाट रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया कि देखा जाय कि दोहरीघाट में आमान परिवर्तन का कितना काम हुआ है लेकिन घोसी संघर्ष समिति घोसी के अध्यक्ष अरविंद कुमार पांडेय दोहरीघाट पहुंचे तो दंग रह गए क्योंकि वहां पर अभी तक कोई भी कार्य शुरू नहीं हुआ है। अध्यक्ष अरविंद कुमार पांडेय ने बताया कि पहले दोहरीघाट को डेड लाइन में डाल दिया गया था लेकिन जब संघर्षों का सिलसिला चला तो उस समय पूर्वोत्तर रेलवे के अधिकारी ने कहा था कि घोसी संघर्ष समिति घोसी के पत्रक पर विचार विमर्श हो रहा है तब अध्यक्ष अरविंद कुमार पांडेय अपने साथियों के साथ पूर्वोत्तर रेलवे गोरखपुर मंडल गोरखपुर जाकर अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा जिसमें दोहरीघाट को भी रेलवे स्टेशन बनाने पर जोर दिया गया था अध्यक्ष अरविन्द पांडये ने बताया कि अधिकारियों ने कहा कि आप लोगों के संघर्षों के कारण जो दोहरीघाट डेड लाइन थी उसे रेड लाइन कर दिया गया है और अब इस पर कार्य होगा, निरीक्षण के दौरान देखा गया कि आमान परिवर्तन के लिए पटरियां गिराई तो जा चुकी हैं लेकिन भवन का काम शुरू नहीं हुआ तो वहीं से तुरंत निर्माण अधिकारी से फोन पर बात हुई तो उन्होंने कहा कि इसी 13 सितंबर सोमवार से दोहरीघाट भवन का काम शुरू कर दिया जाएगा। घोसी संघर्ष समिति घोसी के संरक्षक अब्दुल मन्नान खान ने कहा कि दोहरिघाट मे रेलवे की अपार भूमि बेकार पड़ी है इसलिए दोहरीघाट में रेलवे टर्मिनल एवं वाशिंग फिट बनाकर उपयोग में लिया जा सकता है। महामंत्री खुर्शीद खान ने कहा कि हमारी लड़ाई इंदारा जंक्शन से लेकर दोहरीघाट तक कि है जिसे जल्द से जल्द पूरा कर ट्रेनों का संचालन शुरू किया जाय। सुदर्शन कुमार ने कहा कि जब तक ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं होगा और हम लोग ट्रेन ड्राइवर को माला नही पहनाएंगे तब तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा, घोसी संघर्ष समिति घोसी के अध्यक्ष अरविंद कुमार पांडेय ने चेतावनी देते हुए कहा कि कि अगर 13 सितंबर से दोहरीघाट का कार्य शुरू नहीं हुआ तो हम धरना प्रदर्शन, आंदोलन करने के लिए बाध्य हो जाएंगे, और तब तक आंदोलन जारी रहेगा जब तक दोहरीघाट में कार्य शुरू नहीं होगा। वैसे भी दिसंबर माह में घोसी रेलवे स्टेशन पर धरना प्रदर्शन, आंदोलन करने के लिए घोसी संघर्ष समिति घोसी पूरा प्रयास कर रही है, जो भूख हड़ताल से लेकर धरना प्रदर्शन आंदोलन होगा जब तक अधिकारी रेलवे ट्रेक नहीं बिछा पाए, और अगर मार्च 2022 मे ट्रेनों का संचालन शुरू नहीं हुआ तो रेल रोको आंदोलन भी किया जाएगा।
इस दौरान घोसी संघर्ष समिति घोसी के अध्यक्ष अरविंद कुमार पांडेय, संरक्षक अब्दुल मन्नान खान, महामंत्री खुर्शीद खान, सुदर्शन कुमार, रेयाजुल हक उर्फ मुन्ना मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mau Tv