01 से 31 मार्च तक चलाया जायेगा संचारी रोग नियंत्रण अभियान

■ अभियान के दौरान घर-घर जाके खोजे जायेगे टीबी के रोगी

मऊ। दिमागी बुखार और संचारी रोगों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए विशेष संचारी रोग नियंत्रण अभियान 1 मार्च से शुरू होकर 31 मार्च तक चलेगा। अभियान जिला स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष/जिलाधिकारी अमित सिंह बंशल की निगरानी में संचालित किया जाएगा । स्वास्थ्य विभाग के साथ 12 अन्य विभाग समन्वय स्थापित कर दिमागी बुखार व संचारी रोग पर नियंत्रण एवं रोग उन्मूलन के लिए एक साथ मिलकर कार्य करेंगे और अभियान को सफल बनाएँगे।
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सतीशचन्द्र सिंह ने बताया कि इस अभियान को सफल बनाने की तैयारी स्वास्थ्य विभाग ने तैयारियां शुरू कर दी है। स्वास्थ्य विभाग को इस अभियान का नोडल विभाग बनाया गया है। 22 फरवरी को जिला मुख्यालय पर ब्लाक स्तरीय प्रशिक्षकों को प्रसिक्षण दिया गया। अभियान को सफल बनाने के लिए 24, 25 और 26 फरवरी के मध्य से 28 फरवरी के मध्य तक ग्राम पंचायत सचिवों का संवेदीकरण किया जाएगा। दो से आठ मार्च के मध्य एएनएम आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का संवेदीकरण किया जाएगा। अभियान के दौरान चिकित्सा विभाग का कार्य जनता को जागरूक करने के साथ यह पता करना है कि अगर कोई व्यक्ति दिमागी बुखार से प्रभावित पाया जाता है, तो उसकी तुरंत जांच कराकर निःशुल्क उपचार सुनिश्चित की जाएगा। नगर विभाग का काम नालियों को सही तरीके से साफ सफाई तथा उसके पश्चात कचरे का निस्तारण है, जिससे कि गंदगी में मच्छर न पनपने पाएं, नालिया अगर खुली हुई है तो उन्हें ढकने का कार्य किया जाएगा। उन्होने बताया कि पंचायती राज विभाग के कार्यों के बारे में जानकारी देते हुए, ग्राम स्वास्थ्य पोषण समिति की बैठक कर ग्रामीणों को स्वच्छता के बारे में जागरूक कराने का कार्य करें।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ एस पी अग्रवाल ने बताया कि इस संचारी रोग नियत्रण अभियान के दौरान घर-घर जाकर क्षय रोग के लक्षणों के आधार पर संभावित रोगियों की जानकारी भी एकत्रित की जाएगी यदि कोई संभावित रोगी मिलता है तो रोगी का नाम पता और मोबाइल नंबर आदि की जानकारी एकत्रित की जाएगी। उन्होने बताया कि टीबी मरीजों को निःशुल्क चिकित्सा के साथ निक्षय पोषण योजना के तहत इलाज के दौरान उनके पंजीकृत खाते में हर माह 500 रुपये भेजे जाते हैं।
जिला मलेरिया अधिकारी बेदी यादव ने बताया कि अभियान के दौरान जन समुदाय में साफ-सफाई, ‘हर रविवार मच्छर पर वार’ के महत्व के बारे में बताया जायेगा। लोगों को जागरूक किया जाएगा कि मच्छर के काटने से स्वयं को किस तरह से बुखार होने से बचाया जाए और कोई समस्या है तो तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में जाकर निःशुल्क उपचार प्राप्त करें। उन्होने बताया कि 10 से 24 मार्च दस्तक अभियान चलाया जाएगा। इस दस्तक अभियान में आशा और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के द्वारा घर-घर जाकर जन समुदाय को संचारी रोगों से बचने के लिए जागरूकता किया जायेगा। इस दौरान आशा कार्यकर्ताओं के माध्यम से जन्म मृत्यु पंजीकरण से वंचित शिशुओं व्यक्तियों का भी किया जाएगा दिमागी बुखार के कारण दिव्यांग हुए लोगों और कुपोषित बच्चों की सूचना एकत्रित की जाएगी। अभियान की रिपोर्ट ब्लॉक में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजी जाएगी।
उन्होंने बताया कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान विभिन्न चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विकास, पंचायती राज, पशुपालन, महिला एवं बाल विकास, शिक्षा विभाग, कल्याण समाज, कृषि एवं सिंचाई विभाग सहित विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित कर चलाया जाएगा। अभियान में लोगों को साफ-सफाई कचरा निस्तारण जलभराव रोकने तथा शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सहित मच्छरों से बचने के लिए जागरूक किया जाएगा।

उन्होंने ने बताया कि अभियान की रिपोर्ट ब्लॉक में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर भेजी जाएगी, उन्होंने बताया कि संचारी रोग नियंत्रण अभियान विभिन्न चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विकास पंचायती राज पशुपालन महिला एवं बाल विकास शिक्षा विभाग कल्याण समाज कृषि एवं सिंचाई विभाग सहित विभागों के बीच आपसी समन्वय स्थापित कर चलाया जाएगा। अभियान में लोगों को साफ सफाई कचरा निस्तारण जलभराव रोकने तथा शुद्ध पेयजल की उपलब्धता सहित मच्छरों से बचने के लिए जागरूक किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

IPL-2020 UPDATE NEWS

कौन बनेगा IPL-2020 का किंग ?