गांधी जयंती पर सरकारें शपथ लें,महिलाओं पर जुल्म रोकेंगे : अतुल अनजान

लखनऊ। देश में महिलाओं पर जुल्म होने की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है l। एक बहुत ही दुखद बात यह है की जघन्य अपराधों के अंतर्गत नाबालिग लड़कियों को निशाना बनाया जा रहा है। बलात्कार करने के बाद उनके शरीर के साथ जिस तरह का व्यवहार किया जा रहा है उसे दानवी व्यवहार से भी अधिक कहा जाना चाहिए । समाज के शोषित ,पीड़ित आर्थिक पिछड़े लोगों के खिलाफ दबंग्ग और मनचले लोगों ने द्वारा जिस तरह की महिला उत्पीड़न की घटनाएं की जा रही है वह सभ्य समाज और सरकारों को चुनौती है गांव शहर और समाज के हर वर्ग के लोगों और विशेषकर युवाओं को आगे बढ़कर इसका सक्रिय विरोध करना होगा। 2 अक्टूबर गांधी जयंती पर हर सचेत नागरिक को महिलाओं पर होने वाले अत्याचार के विरुद्ध सक्रिय विरोध का संकल्प लेना होगा।
हाथरस , बलरामपुर की हाल की घटनाओं ने देश को हिला दिया । भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राष्ट्रीय सचिव अतुल कुमार “अनजान” ने एक वक्तव्य में कहा कि प्रधानमंत्री मोदी को सिर्फ ” बेटी बचाओ – बेटी पढ़ाओ :के नारे से ही संतुष्ट नहीं हो जाना चाहिए । राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के हालिया आंकड़ों ने सिद्ध कर दिया कि महिला उत्पीड़न , बलात्कार और नाबालिग बच्चियों के साथ घिनौना व्यवहार सबसे ज्यादा भाजपा शासित राज्यों में है । अतुल कुमार “अनजान” ने आगे बताया कि गृह मंत्रालय, केंद्र सरकार के अधीन कार्य करने वाली राष्ट्रीय नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो( एनसीआरबी) के अनुसार वर्ष 2019 में देश में महिलाओं के खिलाफ 7.3 प्रतिशत जुल्म पिछले साल की तुलना में बढ़ गया । पिछले साल 2018 में प्रति लाख महिला जनसंख्या पर 58.58 प्रतिशत था जो 2019 में बढ़कर 62.4% हो गया l प्राप्त आंकड़ों के अनुसार वर्ष 2019 में औसतन प्रतिदिन देश में पुलिस स्टेशनों पर 87 रेप के मामले दर्ज किए गए । जबकि बहुत बड़ी संख्या मैं रिपोर्ट दर्ज ही नहीं की नहीं किए गए । भाकपा नेता अनजान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है की इस भयावह स्थिति से निपटने के लिए तत्काल देश के मुख्यमंत्रियों की बैठक की जानी चाहिए ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

IPL-2020 UPDATE NEWS

कौन बनेगा IPL-2020 का किंग ?