ट्रेन में पानी का मूल्य 5 रूपया ज्यादा वसूलना पड़ा महंगा, 50 हजार का जुर्माना

० मऊ के ज्ञानप्रकाश सिंह के ट्विट पर कार्यवाही

भारतीय रेलवे अपने ग्राहकों की शिकायतों का निस्तारण करने में सबसे आगे है। ट्विटर पर प्राप्त किसी भी शिकायत पर उनका रिस्पांस 1 मिनट के अंदर प्राप्त होता है और अगले 5 से 10 मिनट के अंदर सभी जिम्मेदार जगहों से शिकायतकर्ता को फोन कॉल के माध्यम से जानकारी मांगी जाती है और उसके निस्तारण के विषय में सूचित किया जाता है। यह कहना है मऊ राजपुताना उत्तर टोला निवासी, ज्योतिष के जानकार ज्ञानप्रकाश सिंह का। श्री सिंह ने बताया कि 5 दिन पहले मैंने सारनाथ एक्सप्रेस से यात्रा करते समय पैंट्री कार के वेंडरों द्वारा अधिक मूल्य पर पानी बेचने की शिकायत ट्विटर के माध्यम से आईआरसीटी भारतीय रेलवे को की थी। 1 मिनट के अंदर मुझसे मेरे पीएनआर और फोन नंबर को मांगा गया अगले 5 मिनट में मेरे पास आईआरसीटी दिल्ली से कॉल आई और साथ में पेंट्री का मैनेजर भी मेरे पास आया और मुझे किसी तरह से मना कर और कंपनी के अधिकारियों द्वारा पैसे का प्रलोभन देते हुए अपनी शिकायत वापस लेने का दबाव बनाने लगा । उसी बीच आईआरसीटी से लखनऊ के अधिकारी का फोन आया जिसने मुझे बताया कि आप अपनी शिकायत वापस ना लें मैं संबंधित कंपनी में जुर्माना लगाने जा रहा हूं औऱ तुरंत एक्शन लेते हुए संबंधित पैंट्री कार संचालक कंपनी अरुणिमा फ़ूड सर्विस के ऊपर ₹50000 का जुर्माना लगाया गया।

इन सारी कार्रवाइयों के बाद कल आईआरसीटीसी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ग्राहकों की जागरूकता हेतु एक पोस्ट भी डाली। भारतीय रेल और आईआरसीटीसी का हृदय से आभार

ज्ञान प्रकाश सिंह ने अपने अधिकार का प्रयोग करते हुए रेलवे के वेंडरों की मनमानी को ट्विटर के माध्यम से शिकायत की थी। अगर हर ग्राहक ऐसे ही जागरूक रहें और अपने अधिकार का प्रयोग करें तो ऐसे लोग किसी भी ग्राहक के साथ ना तो अधिक रूपया वसूल पाएंगे और ना ही अपनी मनमानी कर पाएंगे। ज्ञान प्रकाश सिंह के इस शिकायत पर रेलवे विभाग की त्वरित कार्यवाही से लोगों में काफी खुशी है ज्ञान प्रकाश सिंह का कहना है कि हमें अपने अधिकार का सदैव प्रयोग करना चाहिए नहीं तो मनमानी करने वालों का हम ऐसे ही मन बढ़ाते रहेंगे और वह गलत तरीके से धनारोहण कर एक एक नागरिक को आर्थिक चूना लगाते रहेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Mau Tv