अपने फायदे की खबर के लिए मीडिया को बुलाने वाली पुलिस, नहीं ढूंढ पा रही पत्रकार की बाइक

मरदह/गाजीपुर। अपनी पीठ थपथपाने में यूपी पुलिस कोई कोर कसर नहीं छोड़ती, और जब जरूरत पड़ता है तो अपने फायदे की खबर के लिए मीडिया को बुलाती और अपनी बात कह, अखबार, पोर्टल, चैनल में वाहवाही छपवाती है। लेकिन उसी पुलिस से जब किसी पत्रकार को अपनी मदद की दरकार हो तो पुलिस बंगले झांकते मिल जाती है।
गाजीपुर जनपद के मरदह थाने की पुलिस पांच दिन बाद भी पत्रकार की चोरी की गई बाइक का पता नहीं लगा सकी। जिससे क्षेत्र में तरह तरह की चर्चाएं होती नजर आ रही है। मालूम हो कि स्थानीय गांव निवासी एक दैनिक समाचार पत्र के पत्रकार आनन्द कुमार की बाइक बीते 7 जनवरी को उसके दरवाजे के बाहर से चोरी हो गई थी। जिस मामले में उसने स्थानीय थाने में अज्ञात चोरों के खिलाफ तहरीर देकर न्याय की गुहार लगाई पुलिस तहरीर के आधार पर मुकदमा तो दर्ज कर लिया परन्तु पांच दिनों बाद भी पुलिस इस चोरी घटना का पर्दाफाश करने में नाकाम रही। जिससे क्षेत्र में काफी चर्चा का विषय बना हुआ है। स्थानीय ब्लाक रोड निवासी पत्रकार आनंद कुमार घर के बाहर दो पहिया वाहन प्रति दिन की भांति शुक्रवार की रात करके अपने घर में शो रहा था जब सुबह घर से बाहर निकला तो बाइक गायब मिली इधर उधर काफी खोजबीन करने के बाद पीड़ित थाने में बाइक चोरी की तहरीर दी थी। लेकिन पांच दिन बीतने के बाद भी इस घटना का पुलिस खुलासा करने में असमर्थ दिखी। वही स्थानी लोगों का कहना है आखिर किसकी है लापरवाही, कौन है जिम्मेदार, इस तरह की घटनाएं अगर क्षेत्र में होती रही तो कैसे रहेगी आम जनता सुरक्षित।

Leave a Reply

Your email address will not be published.