खास-मेहमान

नकल माफिया, भू-माफिया, भ्रष्टाचारी कत्तई नहीं बख्शे जाएंगे, नवागत जिलाधिकारी ने प्रेस वार्ता के दौरान चेताया

मऊ। भ्रष्टाचार मुक्त जिला बनाना और शासन की योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाना ही हमारी पहली प्राथमिकता होगी। आम जनता की समस्याओं का त्वरित निस्तारण के साथ-साथ जनपद में ला एण्ड आर्डर को सुचारु रुप से प्रभावी ढंग से लागू करना भी प्राथमिकता होगी। यह बातें जनपद के नवागत जिलाधिकारी प्रकाश बिंदु ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान कही। उन्होंने बताया कि वे 2009 बैच के आईएएस हैं और बिहार प्रदेश के सासाराम जनपद के मूल रूप के रहने वाले हैं। पूर्व में वे फर्रुखाबाद, भदोही व सन्तकबीर नगर जनपद में जिलाधिकारी के रूप में कार्य कर चुके हैं। वे वर्तमान में परिवहन विभाग में विशेष सचिव के रूप में कार्य कर रहे थे, वहां से शासन ने मऊ जिलाधिकारी के पद पर भेजा है। उन्होंने यह भी बताया कि वे बिहार में डिप्टी एसपी, भोजपुर व भभुआ में डिप्टी कलेक्टर के पद पर कार्य कर चुके हैं। उनकी शिक्षा दीक्षा जेएनयू से पूरी हुई है उसके पूर्व की पढ़ाई उन्होंने पटना में पूरी की। पत्र-प्रतिनिधियों से परिचय जानने के दौरान ही अपने दोस्ताना व्यवहार को जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि जनता की समस्याओं को सामने लाने का सबसे बड़ा पहलू है। कहा की चिकित्सा और परिवहन विभाग का विशेष ध्यान रहेगा। सरकारी अस्पतालों में चिकित्सकों की उपस्थितियों पर विशेष नजर रखेंगे और जल्दी जनता को परिवर्तन भी नजर आएगा। भू-माफियाओं पर कार्यवाही के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनकी नजर भू-माफियाओं पर है और उत्तर प्रदेश शासन ने विशेष रुप से भू-माफियाओं को इंगित कर उन पर कार्यवाही करने की बात कही है। कहा कि जल्द ही सभी को बदलाव नजर आने लगेगा। जिलाधिकारी ने कहा कि इसके अलावा एक जो बड़ी समस्या भूमि को लेकर होती है वह भाई-भाई वह पट्टीदारों के बीच में होती है। इसके लिए मऊ जनपद में पूर्व में जिलाधिकारी के रूप में रह चुके निखिल चंद्र शुक्ला के श्रावस्ती मॉडल को वह पुनः जनपद में लागू करेंगे।
जिलाधिकारी ने कहा कि इस बार होने वाले हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षाओं को नकल विहीन कराने के लिए मजिस्ट्रेटों की तैनाती की जायेगी और नकल कराते हुए पकड़े जाने पर उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जायेगी। कहा कि किसी भी किमत पर शिक्षा माफिया व नकलची बख्शे नहीं जाएंगे। पत्रकारों ने उनका ध्यान जनपद में ऐसे तथाकथित चिकित्सकों की तरफ आकर्षित कराया जिनके डिग्री संदेहस्पद है तो जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों पर कार्यवाही होगी किसी भी किमत पर कोई बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने तुरंत सीएमओ को तलब कर इस ओर कार्यवाही करने की बात कही। साथ ही उन्होंने उसी समय मऊ के जिला अस्पताल व जिला महिला अस्पताल के सीएमएस को बुलाकर चिकित्सा व्यवस्था को सुव्यवस्थित करने की भी बात कही। भ्रष्टाचार के सवाल पर जब उनका ध्यान विगत 9 महीने में ज्यादा बढ़ने की बात की गयी तो उन्होंने कहा कि वह स्वयं अपने स्तर से इस पूरे मामले को देखेंगे और कहा कि भ्रष्टाचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। ऐसे लोगों के विरुद्ध मुकदमा लिखा जाएगा और उन्हें जेल भी भेजा जाएगा। नर्सरी से लेकर इण्टर तक के विद्यालयों में छात्र-छात्राओं को ले जाने व ले आने के लिए प्रयोग होने बाले वाहनों पर कहा कि वे शीघ्र स्कूल प्रबन्धन तंत्र के साथ वार्ता कर नियम कानून से बच्चों के ट्रांसपोर्टिंग की बात करेंगे। जो विद्यालय कोर्ट व शासन-प्रशासन की बातों का अनदेखी करेगा उसके विरूद्ध मुकदमा दर्ज कर दण्डनात्मक कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home2/apnamaui/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420

Notice: ob_end_flush(): failed to send buffer of zlib output compression (1) in /home2/apnamaui/public_html/wp-includes/functions.php on line 5420