स्व. कालिका प्रसाद की पुण्यतिथि पर गरीब कन्या की विवाह हेतु 111000 व शिक्षा हेतु महादान

@ आनन्द कुमार…
दोहरीघाट/मऊ। समाज में करो कुछ ऐसा कि आपके दिखाएं रास्ते पर लोग चलने के कायल हो जाएं। आपके कार्य की न सिर्फ सराहना करें बल्कि यह कहें कि संस्कार जब परिवार से मिला हो तो व्यक्ति का व्यक्तित्व सदैव अच्छा करने की कोशिश करता है। मऊ जनपद के दोहरीघाट नगर व ग्रामीण लोगों से और कालिका प्रसाद का सामाजिकता का कुछ ऐसा ही अलग रिश्ता था। जो वे आज धरती पर तो नहीं हैं लेकिन उनके परिजन उनके आदर्श, संस्कार, प्रेम व बंधुत्व को उनकी नामौजूदगी में भी उनके नाम के सहारे उनके दिखाएं रास्ते को जीवन्त करने की कोशिश कर रहे हैं। सामाजिक सरोकारों के धनी दोहरीघाट निवासी स्व. कालिका प्रसाद मद्धेशिया की द्वितीय पुण्यतिथि का आयोजन उनके निजी आवास पर सम्पन्न हुआ। जहां लोगों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण वह पुष्प अर्पित कर स्व. कालिका प्रसाद को याद किए और समाज में उनके किए गए योगदान पर प्रकाश डाला। कालिका प्रसाद का देहांत 23 जनवरी 2021 को लखनऊ के SGPGI में 75 वर्ष की आयु में हुआ। युवावस्था से ही सामाजिक सेवा में अग्रणी भूमिका रखने वाले स्व. कालिका प्रसाद के जाने के बाद समाज में एक निर्वात की स्तिथि है। श्री राम और परशुराम की मिलन स्थली दोहरीघाट में स्व. कालिका प्रसाद द्वारा विजयी दल हिंदू अखाड़ा की स्थापना 50 वर्ष पूर्व की गयी जिसके संस्थापक उस्ताद अंतिम समय तक बने रहे और पूर्व नगर अध्यक्ष पद प्रत्याशी भी रहे। समाज के हर वर्ग की मदद को तत्पर स्व.श्री कालिका प्रसाद अपने जीवनकाल में कई अभूतपूर्व कार्य किये उन्होंने पिछड़े इलाके में शिक्षा के उत्थान के लिए महिला शिक्षा महाविद्यालय एवं मंदिर जैसे सामाजिक स्थलों के लिए अपनी करोड़ों की भूमि दान दे दी, जो आज के वर्तमान समाज के लिए नजीर बना हुआ है। उसके साथ ही उन्होंने समाज के निचले तबके के कई परिवार की लड़कियों के विवाह का पूरा खर्च उठाया जिसके लिए परिवारीजन आज भी कृतज्ञ है।
स्व. कालिका प्रसाद के सामाजिक कार्यो को आगे बढ़ाने का बीड़ा उनके परिवार ने उठाया है जिसके लिए 23 जनवरी 2021 को प्रथम पुण्यतिथि पर पत्नी इंद्रावती देवी पुत्र अवधेश, राजेश, बृजेश, प्रभात एवं पुत्री रीता व रेखा गुप्ता द्वारा श्री कालिका प्रसाद सेवा मिशन का उद्धघाटन किया गया था। साथ ही एक गरीब परिवार की कन्या को गोद लेकर उसके विवाह हेतु 1 लाख 11 हज़ार रु. एवं उसकी शिक्षा का खर्च का महादान दिया गया था। पिछले वर्ष दान पाने वाले लाभार्थिनी के पिता महेश पुत्र बनारसी व माता किरण जो दोहरीघाट निवासी है। ज्ञात हो इस वर्ष द्वितीय पुण्यतिथि पर भी एक गरीब कन्या के विवाह हेतु एक लाख ग्यारह हज़ार रुपये एवं उसकी शिक्षा के खर्च का महादान किया गया। इस वर्ष दान पाने वाले लाभार्थिनी का नाम कीर्ति साहनी माता पुष्पा देवी पिता सोनू साहनी निवासी मल्लाह टोला, दोहरीघाट है। इसके साथ ही गरीबो को 50 कम्बल भी वितरण किया जिससे उन्हें ठंड से राहत मिलेगी। कार्यक्रम में लगभग एक हज़ार लोग शामिल हुए जहां प्रसाद भोज का वितरण हुआ इस दौरान उत्तर प्रदेश के प्रसिद्ध नेत्र सर्जन प्रेमा नेत्रालय मऊ के डॉ. पवन मद्धेशिया, पार्वती महिला महाविद्यालय के प्रमुख लाल विहारी दुबे, मोती मद्धेशिया, किशोरी यादव एवं अलगु जायसवाल आदि गणमान्य उपस्थित रहें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.