त्योहारी सीजन में दूध व उससे बने उत्पाद पर रहेगी पैनी नजर : केहरी सिंह

मऊ। आम उपभोक्ताओं की रोजमर्रा की जरूरत में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले दूध की गुणवत्ता पर पैनी नजर रखने के क्रम में अपर जिलाधिकारी केहरी सिंह ने विशेष निर्देश देते हुए कहाकि आगामी त्योहारी सीजन में दूध व दूध से बने उत्पादों की गुणवत्ता पर विशेष नजर रखी जाएगी। जिसके तहत दूधो के साथ ही मिठाई दुकानों के निर्माण स्थलों की सघन जांच की जाएगी। श्री सिंह ने विभाग को विशेष निर्देश देते हुए कहाकि फ़ल, सब्जी, खाद्यान्न व दूध से बने उत्पाद आम उपभोक्ताओं के जीवन में विशेष महत्व रखते हैं। जिसके गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देकर हम लोगों के जीवन की रक्षा करते हैं।
गौरतलब हो कि सोमवार को कलेक्ट्रेट सभागार में
अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग की जिला स्तरीय कमेटी बैठक संपन्न हुई।
बैठक के दौरान बांटा विभाग के अनुपस्थिति पर नाराजगी व्यक्त कर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने संबंधित अधिकारी से जवाब मांगा। अपर जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान संबंधित अधिकारियों का अभियान चलाकर ठेला, खोमचा, रेहड़ी इत्यादि पर व्यवसाय करने वालों को साफ सफाई के प्रति जागरूक करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने खुले स्थानों पर विक्रय होने वाले खाद्य सामग्रियों के दुकानदारों को विशेष दिशा-निर्देश जारी करने का आदेश दिया। उपभोक्ता प्रतिनिधि श्रीराम जायसवाल द्वारा फल, सब्जी, पनीर व दूध इत्यादि की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान देने संबंधित विषय रखा गया। बैठक के दौरान अधिशासी अधिकारी श्रवण कुमार त्रिपाठी ने आंकड़े प्रस्तुत करते हुए बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 के दौरान दूध पर 70 छापे मारते हुए 72 नमूने संग्रहित किए गए। इस दौरान अमानक पाए गए 33 नमूनों व सुरक्षित पाए गए 2 नमूनों के सापेक्ष में अपर जिलाधिकारी न्यायालय में 34 वाद दायर किए गए। जिसमें संबंधित न्यायालय द्वारा ₹840000/- अभीरोपित किया गया। वहीं वर्तमान सत्र में विभिन्न दूध व्यवसाय पर कार्यवाही करते हुए ₹345000/- अभिरोपित किए गए। अन्य खाद्य सामग्रियों पर किए गए कार्यवाही के क्रम में वित्तीय वर्ष 2020-21 के क्रम में 255 छापे मारकर विभिन्न नमूने संग्रहित किए गए। संबंधित न्यायालय में दायर वाद 161 के सापेक्ष में रुपया 4462000/- हजार अर्थदंड आरोपित किए गए। इसी क्रम में औषधि निरीक्षक अरविंद कुमार ने आंकड़े प्रस्तुत करते हुए बताया कि विभिन्न औषधि विक्रेताओं पर 80 छापे मारते हुए 72 नमूने संग्रहित किए गए।
इस बैठक में उक्त दुग्ध विकास अधिकारी, जिला पूर्ति अधिकारी, पशु चिकित्सा अधिकारी, क्षेत्रीय आयुर्वेदिक व यूनानी अधिकारी, औषधि विक्रेता संघ, व्यापार मंडल अध्यक्ष, मुख्य खाद्य सुरक्षा अधिकारी आरके दीक्षित, औषधि निरीक्षक अरविंद कुमार, खाद्य सुरक्षा अधिकारी पंकज कुमार यादव, जय हिंद राम, रामानंद, दिनेश कुमार राय, बिंदु पांडेय, आशुतोष राय, दवा व्यापार वेलफेयर अध्यक्ष शिव जी राय, महामंत्री प्रवीण पांडेय, उपभोक्ता प्रतिनिधि राकेश तिवारी, श्रीराम जायसवाल, व्यापार मंडल अध्यक्ष रामगोपाल गुप्ता सहित सभी सदस्य उपस्थित रहे।

खाद्य सामग्री सचल प्रयोगशाला का आगमन कल…

मऊ। उपभोक्ताओं को गुणवत्ता परक खाद्य सामग्री की उपलब्धता सुनिश्चित करने के निमित्त खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन द्वारा 10वीं बार मऊ जनपद में खाद्य सामग्री सचल प्रयोगशाला वाहन मंगलवार को उपलब्ध रहेगी।
जानकारी देते हुए अभिहित अधिकारी श्री एस के त्रिपाठी ने बताया कि उक्त सचल प्रयोगशाला वाहन के माध्यम से जनपद के उपभोक्ता व व्यवसाई अपने खाद्य सामग्रियों के गुणवत्ता की जांच निशुल्क रूप से करवा सकते हैं। जिसकी रिपोर्ट तत्काल प्राप्त हो जाएगी।
उपभोक्ता प्रतिनिधि राकेश कुमार तिवारी ने बताया कि इस वाहन के माध्यम से नगर के उपभोक्ता व दुकानदार अपने घरों में प्रयोग के लिए रखी गई खाद्य सामग्रियों की गुणवत्ता की जांच भी निशुल्क रूप से करा सकेंगे। जिससे उन्हें अपनी रसोई में रखे खाद्य व अखाद्य सामग्रियों की पहचान सुनिश्चित हो सकेगी। सचल वाहन की उपलब्धता के संबंध में विस्तृत जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि उक्त सचल प्रयोगशाला वाहन गाजीपुर तिराहा पर 11:00 बजे, पुरानी तहसील पर दोपहर 12:00 बजे, भीटी 12:30, बाल निकेतन तिराहा 1:15, रोडवेज पर 1:45 पर पहुंचेगी। इसके बाद आजमगढ़ मोड़ पर 3:00 बजे मिर्जाहाजीपुरा शाम 4:00 बजे पहुंचेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mau Tv