सावधान अब सरकारी कर्मियों को ऐप पर देनी होगी लाइव लोकेशन लगानी होगी हाजिरी

० क्षेत्र में कार्यरत समस्त कार्मिकों को करना होगा ऐप डाउनलोड,देनी होगी नियमित उपस्थिति।

० नए वर्ष में कर्मचारियों को अनुशासित तरीके से काम करने हेतु दिया कड़ा संदेश

मऊ। आराम हराम है और सरकार से वेतन ले रहे हैं तो काम करना ही पड़ेगा। क्योंकि अब सरकार किसी भी रूप में अपने कर्मियों की ड्यूटी के दौरान लापरवाही और गैर हाजरी बर्दाश्त करने के मूड में नहीं है। अब शासन प्रशासन के मुखिया के माध्यम से जनपदों में अपने कर्मचारियों पर नजर रखने और उनकी नियमित हाजिरी लगाने को लेकर एप्स के माध्यम से नजर रखेगी। सरकारी कर्मी अब शासन और जिला प्रशासन की आंख में धूल झोंक कर मटरगस्ती नहीं कर सकेंगे। क्योंकि सरकार किसी भी कीमत पर कर्मचारियों की मनमानी सुनने को तैयार नहीं है। इतना ही नहीं अटेंडेंस के अलावा इस ऐप पर जनपद में हो रहे विकास कार्यों की डिजीटल मानिटरिंग भी की जाएगी।
इसी के मद्देनजर बृहस्पतिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिलाधिकारी अरुण कुमार ने क्षेत्र में कार्यरत कार्मिकों की लोकेशन सहित उपस्थिति एवं जनपद में कराए जा रहे विकास कार्यों की डिजिटल मानिटरिंग हेतु विकसित ऐप मऊ एम.आई.एस.एंड एडवांस अटेंडेंस सिस्टम का शुभारंभ किया। इस ऐप के माध्यम से क्षेत्र में कार्यरत कार्मिकों की उनकी लोकेशन सहित उपस्थिति के साथ ही साथ विकास कार्यों की भी डिजिटल मानिटरिंग हो सकेगी। इस ऐप को मुख्य विकास अधिकारी द्वारा आई टी एक्सपर्ट्स की सहायता से विकसित कराया गया है।
जिलाधिकारी ने कहा कि इस ऐप को क्षेत्र में कार्यरत कर्मचारियों जैसे ग्राम सचिव, सफाई कर्मी, आंगनवाड़ी कार्यकत्री एवं सहायिका, लेखपाल आदि को अपने मोबाइल में डाउनलोड करना होगा, जिससे उनकी लोकेशन सहित उपस्थिति की जांच की जा सकेगी। इसके अलावा विकास कार्यों की डिजिटल मानिटरिंग भी इस ऐप के माध्यम से हो सकेगी। साथ ही विकास कार्यों की अद्यतन स्थिति से अवगत हुआ जा सकेगा।
उन्होंने बताया कि सर्वप्रथम विकासखंड परदहां में कार्यरत ग्राम सचिवों पर यह प्रयोग शुरू किया जा रहा है। इसके उपरांत जनपद में कार्यरत समस्त कार्मिकों को भी इस ऐप के माध्यम से जोड़ा जाएगा। आवश्यकतानुसार इस ऐप में भी आगे संशोधन कार्य कर इसे और अधिक उपयोगी बनाया जाएगा।
इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी श्री प्रशांत नागर,जिला विकास अधिकारी उमेश चंद्र तिवारी सहित संबंधित ऐप को विकसित करने वाले कर्मचारी भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.