संतदेव चौहान ने अपने खर्चे पर दिल्ली से मऊ टाइल्स मिस्त्री का शव भिजवाया

मऊ। सामाजिक सरोकारों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने वाले दिल्ली के एम्स में कर्मचारी नेता दिव्यांग संतदेव चौहान मऊ व आसपास के लोगों की मदद के नाम पर कभी पीछे नहीं हटते। वे अपने इसी हुनर और अंदाज के लिए अपने जनपद में खास जाने जाते हैं। मऊ के नाम पर कोई भी संतदेव चौहान के पास पहुंच जाए या उन्हें पता चल जाए तो वह उसकी हर संभव मदद करते हैं। संतदेव चौहान को जैसे ही पता चला कि मऊ जनपद के थाना घोसी के ग्राम विकमपुर पोस्ट रजपुरा निवासी राजनाथ चौहान पुत्र रामसूरत चौहान जो दिल्ली में रहकर ही टाइल्स का काम करते थे उनका दिनांक 24 नवंबर को एक भवन से चौथी मंजिल से अचानक गिर जाने की वजह से अस्पताल में भर्ती थे, जिनका 26 नवंबर को निधन हो गया। पिता की हालत जान उनका बेटा विजय चौहान गांव से दिल्ली आया था संतदेव चौहान को जैसे ही टाइल्स मिस्त्री राजनाथ चौहान के निधन की जानकारी पहुंची वे उनके बेटे के पास गए और पार्थिव शरीर को अपने खर्चे पर उनके गांव भिजवाने की जिम्मेदारी निभाई और पिता की मौत पर बिलख रहे बेटे विजय चौहान व उनके साले अजय चौहान को ढाढस बंधाते हुए सांत्वना दिया तथा एम्बुलेंस बुक कर मऊ भिजवाया। बताते चलें कि संत देव चौहान 25 वर्षों से मऊ एवं आसपास के लोगों का हर संभव लगातार मदद करते आ रहे हैं एवं इस तरह के दु:खद आपदा पर वे मदद करने में वे अपना हाथ कभी पीछे नहीं करते। पार्थिव शरीर को विदा करने के समय संतदेव चौहान के साथ रामप्रवेश चौहान सुरेंद्र चौहान व जगरनाथ चौहान आदि मौजूद थे।

संतदेव चौहान (बाएं)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Mau Tv